Thursday, October 31, 2013

देखा है तेरी आँखों में प्यार ही प्यार बेशुमार



देखा है तेरी आँखों में प्यार ही प्यार बेशुमार
पाया है तेरी बातों में प्यार ही प्यार बेशुमार
देखा है तेरी आँखों में...

ऐ बहारों की परी, ये है तक़दीर मेरी
जो भी समझा है मुझे, वो इनायत है तेरी
देखा है तेरी आंखों में...

मेरे अच्छे थे करम, जो मुलाक़ात हुई
मेहरबाँ हुस्न हुआ, क्या अजब बात हुई
देखा है तेरी आँखों में...

मैंने सोचा भी न था, मुझको मिल जायेगी तू
जैसे लहराये सबा, वैसे लहरायेगी तू
देखा है तेरी आंखों में...
फ़िल्म  :- प्यार ही प्यार (1969)
संगीत :-  शंकर-जयकिशन
लिखा :-  हसरत जयपुरी
गायक :- मो.रफ़ी

आज जाने की ज़िद न करो (Gazal)

फरीदा खानुम कि लोकप्रिय ग़ज़ल। ..........

आज जाने की ज़िद न करो
यूँ ही पहलू में बैठे रहो
हाय मर जायेंगे
हम तो लुट जायेंगे
ऐसी बातें किया न करो

तुम्ही सोचो ज़रा, क्यूँ न रोकें तुम्हें
जान जाती है जब, उठ के जाते हो तुम
तुमको अपनी क़सम जान-ए-जाँ
बात इतनी मेरी मान लो
आज जाने की...

वक़्त की क़ैद में ज़िंदगी है मगर
चंद घड़ियाँ यही है जो आज़ाद हैं
इनको खोकर मेरी जान-ए-जाँ
उम्र भर ना तरसते रहो
आज जाने की...

कितना मासूम रंगीन है ये समां
हुस्न और इश्क़ की आज मेराज है
कल की किसको ख़बर जान-ए-जाँ
रोक लो आज की रात को
आज जाने की...

Tuesday, October 29, 2013

One Line of Motivation...I Can Do This.....

video

Some time it make so much effort to do the things better and it takes hard to complete it but what i mean to say is before doing any thing just realize and visualize this line ... I can do this.... that's all its not that you are doing this things first time the world cycle is saying you have done this all work so many time only the thing is you have forget so d`not worry just realize it..and do it

" आसान है " (Motivation)

video


" आसान है " कभी कभी एक शब्द भी हम को बहुत प्रेरणा देता है बस देखना ये है कि मेरे लिए कौन सा शब्द काम करता है।  मेरे लिए सब कुछ आसान है में कुछ भी कर सकता हु मेरे अंदर ईश्वर ने वो शक्ति पहले से ही भरी है बस मुझे उसका उपयोग करना है। ये एक विश्वास मन में बना लो बस। हो जायेगा सब कुछ आसान है

Sunday, October 27, 2013

जैविक नियंत्रण - मानव कल्याणकारी फफूंद

जैविक नियंत्रण  किशानो के लिए मानव कल्याणकारी फफूंद की जानकारी डॉ प्रकाश कुमार गुप्ता के द्वारा
बहुत ही रोचक तरीके से कहानियो के साथ सहज तरीके से बता रहे है।






१ ) मेटारैजियम (Metarijium ) - उदय,सफेदी जमीन के अन्दर के कीड़ो के लिए ( १ किलो पाउडर ५० किलो गोबर में मिलकर  एक एकर में मिला दे )
२ ) बवेरिया - ( Baveriya ) जमीन के ऊपर के कीड़ो के लिए (१ किलो पाउडर को ५ ० ० लीटर पानी में मिला ले और इस्तमाल करे )
३ ) अन्तमोक्स्तोरा - (Antamoxtora ) ठिधदा अधि के लिए । (इस का छिडकाव करे )
४) वेर्तिसिलियम लेतानी - (Verticilium lekani ) मोईला बग  अधि के लिए।( १ किलो को ५ ० ० लीटर पानी में मिलकर इस्तेमाल करे )
५ ) ट्रिकोडर्मा  (Tricoderma ) जड़ गलन रोग के लिए (१०० किलो गोबर की खाद में २. ५ किलो ट्रिकोडर्मा मिलाकर इस्तेमाल करे
६ ) बेसिलोमैसिलिस लिनोमिसिस (besilomisis linomisis ) जड़ो में गाठ हो तो इस का इस्तेमाल करे ( १ किलो
को एकर में इस्तेमाल करे )

 अच्छी जानकारी के लिए ऑडियो अवश्य सुने और अधिक जानकारी के लिए कृषि विज्ञानं केंद्र या रेडियो मधुबन से संपर्क कर सकते है। …

Friday, October 25, 2013

कैरियर.......





                                                                                                                                                                                                      
कभी कभी युवा साथी पांच वर्ष के कैरियर के बाद अपने पसंद के कैरियर को अपनाने के लिए नई डिग्री लेने के लिए भी तैयार हो जाते हैं। पर इस बात का ध्यान दें कि आप पांच वर्षों बाद पुनः पढ़ाई करने जा रहे हैं। डिग्री आपको फायदेमंद भी साबित हो सकती है और नुकसान भी हो सकता है क्योंकि आप डिग्री प्राप्त करने के लिए अलग ध्यान लगा रहे हैं और वर्तमान में जो काम कर रहे हैं उस पर आपका ध्यान नहीं होता।

ऐसे में आप न इधर के रहते हैं न उधर के। कैरियर में बदलाव संबंधी बड़े फैसले अपने आप न करें। इस संबंध में अपने परिवार के सदस्यों और दोस्तों से बात करें। हो सकता है आपकी इस समस्या में वे आपको बेहतर विकल्प दें।

दो बाते हमेशा अपने दिल में सोचे और विश्वास करे। …. 

सेल्फ कॉन्फिडेंस बढ़ाने का एक आसान और सहज तरीका है अपने को आईने में देखना। आईने के सामने खड़े होकर अपने से लगातार कहते रहिए कि आप यूनिक हैं, हैंडसम या ब्यूटीफुल हैं। आईने में देखकर अपने अच्छे फीचर्स पर फोकस करिए। इससे आप अपनी यूनिकनेस को बेहतर ढंग से समझने की कोशिश कर पाएंगे। 

 याद रखिए दुनिया में तमाम ऐसे उदाहरण हैं कि जिनके पास खूब पैसा और शोहरत थी लेकिन वे कभी अपनी जिंदगी में खुश नहीं रह पाए। जाहिर है खुशी बाहर नहीं, भौतिक सुख-सुविधाओं में नहीं। यह पूरी तरह आप पर निर्भर है कि आप खुश रहना चाहते हैं या दुःखी। इसलिए हमेशा अपनी भीतर ग्रीनर साइड को देखें। अब तक आपने जो कुछ भी अच्छा किया है, उस पर प्राउड फील गर्व करें। 

Enjoy the Nature.....( The Poems i like the most..)

Enjoy the Nature it is a Gods Gift to everyone ...


                                                                                                                                 

सोचता है हर कोई
पर अल्फाजों की शक्ल और
अंदाज-ए-बयां अलग अलग होता है
बोलता है हर कोई
पर अपनी आवाज से हिला देता है
आदमी पूरे जमाने को
कोई बस रोता है।
कोई कभी हँसता है


 


पी लोगे सारा समंदर भी
तो तुम्हारी प्यास नहीं जायेगी।
ख्वाहिशों के पहाड़ चढ़ते जाओ
पर कहीं मंजिल नहीं आयेगी।
रुक कर देखो
जरा कुदरत का करिश्मा
इस दुनियां में
हर पल जिंदगी कुछ नया सिखायेगी।

Wednesday, October 23, 2013

My sweet Father......

मेरे प्यारे बाबा


आपकी याद आयी इस नुम्हा श्याम में
असमान में जैसा रंग है सुनेहरा
वैसे आपकी याद में समाया  है एक रंग सुनेहरा
जैसे श्याम डालती है
याद आपकी बढती है
आपकी याद आयी इस नुम्हा श्याम में ..................

आकाश में बदलो के बीच सूरज भी अपना रंग बदला है
आज की श्याम आपकी याद से मेरा रूप और निकरा है
श्याम के कुछ देर बाद सूरज चुप जाता है
और धिरे से चाँद का दीदार होता है
वैसे आपकी याद ने आज की श्याम में नयी खुशिया लायी है
आपकी याद आयी इस नुम्हा श्याम में............................

 

ख़ामोशी के इस आलम में श्याम का रंग जैसा और गहरा होता है 
वैसे उसकी खूबसूरती और बढाती है 
चाँद के दीदार के बाद असमान में सितारे नज़र आते है 
वैसे  ह़ी  आपकी याद के इस सफ़र में जितना में गहरा उतरता हु 
उतना ही  जादा सुख शांति प्रेम के अनमोल मोती प्राप्त करता हु 
आपकी याद आयी इस नुम्हा श्याम में...........................

आपका लाडला 
 


Tuesday, October 22, 2013

‘कैरियर’ - कॉल सेंटर

सही रास्ता चुनें हम तभी कुछ हासिल करते हैं, जब एक टारगेट बनाकर उसी ओर चलते रहते हैं। ऐसा करने से हमें सक्सेस मिलती है, लोग हमारी तारीफ करते हैं। हमारी कामयाबी का गुणगान भी करते हैं। आज जब कैरियर की दुनिया में एक नहीं, अनेकानेक संभावनाएं सामने हैं, तब भी अधिकांश छात्रों के माता-पिता उनके भविष्य को सजाने-संवारने का एकमात्र रास्ता उच्च शिक्षा ही मानते हैं तथा उसका केन्द्र कालेज या विश्वविद्यालय को। अपने बच्चो के भोजन, कपडे़ अथवा घूमने-फिरने के शौक पर भले ही वे किसी तरह का प्रतिबंध नहीं लगाते हों, कैरियर के चुनाव में किसी भी तरह की स्वतंत्रता देना उन्हें नागवार गुजरने लगता है या वे फिर इसे उचित भी नहीं समझते।  ऐसे समय में आपकी सहायता  के लिए ये इंटरव्यू
आपके काम आ सकता है। कॉल सेंटर पर किस तरह के जॉब मिलते है उसे कैसे प्राप्त कर सकते है ये जानने
के लिए  सुने पूरा ऑडियो। … बेस्ट ऑफ़ लक।

Sunday, October 20, 2013

Sangeet Ki Duniya

संगीत जीवन का एक हिस्सा है किसी ने कहा है संगीत है तो जीवन है अगर संगीत नहीं तो जीवन नहीं
संगीत के बिना जीवन नीरस है आज हर कोई म्यूजिक सुनना पसंद करता है पर संगीत का ज्ञान से परिचित नहीं है इस लिए संगीत है पर संगीत माय जीवन नहीं एक शोकियना अनंदाज से लोग सुनते है संगीत की आज अगर  परिभाषा देखे तो बहुत सारी बाते आएगी पर मूल में भारत ही एक ऐसा देश होगा जहा संगीत का ज्ञान अभी भी है.। क्लासिकल गीत आज भी लोग सुनते है और संगीत की पढाई आज भी लोग पढ़ते है। शास्त्रों में संगीत से जुडी बहुत सी कहानिया है जो आज भी सुनते है तो एक अनोखा अनुभव करते है।

Thursday, October 10, 2013

Meditation Technics....

 

               
             
         
 

 The universe is full of energy but to receive the same energy you need the knowledge of self and to get the self knowledge you have to spend some time for self for this we has to make commitment with self then only we can do... once you get the time for self realization than slowly you will reach towards the destiny. 
and one day you will experience the energy which is recharging you...a peaceful moments a joyful moments a powerful moments..........there are no words to express it...


The Poems I Like......Most

 
 
लहरें आती जाती रहती, तू बस बहते जाना.
आंधी जो आये तो तू , बन पर्वत टकरा जाना
सागर जो आये तो, बन कश्ती तू अड़ जाना
काँटों के पथ को राही, फूल समझ बढ़ते जाना
अंधियारी राहों में तू, बन दीपक जलते जाना
तू ना कहीं बुझ जाना.
लहरें आती जाती रहती, तू बस बहते जाना.
पूर्वा भी आएगी, मस्ती भी छाएगी
तेरे ख्वाबों को पूरा करने, मंजिल तुझे बुलाएगी
तेरे साहस और हिम्मत से, सब सपने सच हो जायेंगें 
जमीं, आसमां और फिज़ा, तेरी जीत का जश्न मनायेंगें.
तू बस जीत का गीत सुनाना
लहरें आती जाती रहती, तू बस बहते जाना.
 
 

" खुद के लिए समय जरुर दे "







जीवन में हम सब बिजी जरुर है पर सरे कार्य करते हुवे भी हमको अपने लिए समय देना होगा . ऐसा करने से हम अपने आप को ही सुख दे साकेंगे और जो  सुखी है वाही दूसरो को सुख दे सकता है  एक और बात ये भी हो सकता है हमको  कुछ नया सोचने का भी मोखा मिलेंगा और अच्छा करने की एनर्जी भी मिलेंगी। 
                     
                           इस लिए खुद को पुरे दिन में थोडा समय जरुर दे सुना है जो अपने लिए समय देता है  वाही दूसरो को भी समय दे सकता है। …

Monday, October 7, 2013

Shantidoot Yuva Cycle Yatra-2013


       video             

om shanti  It was a pleasure to be a part of shantidoot yuva cycle yatra 2013 it was a mission to establish a 
Dream of glorious India  in all youth whoever come across. awareness is the first step for working together.
So come together and start working for Glorious  India.



            



Sunday, October 6, 2013

Shantidoot Yuva Cycle Yatra-2013


मुझे ख़ुशी है की  शांतिदूत युवा साइकिल यात्रा २०१३  (आबू रोड से भीनमाल)  में जाने का चान्स  मिला
 साइकिल यात्रा का नाम सुना कर ही में मनो मन अपने को तयार कर लिया था पर दिल में ये भी था की कैसे सेवा होगा और साइकिल चलने का आदत तो कम था पर मन में था की बाबा सब कुछ सिखा  देगा और शक्ति भी देगा तो जैसा सोचा था वैसे ही हुवा .
  ट्रेनिंग मिलने के बाद एक विश्वास बढ़ा और फिर निश्चिंत होकर साइकिल यात्रा पर निकाल पढ़े। ज़ैसे जैसे यात्रा आगे बड़ा वैसे वैसे मुझे बहुत कुछ सीकने को मिला और अपनी छुपी हुयी प्रतिभा को प्रतक्ष करने का मोख भी मिला।  स्कूल और कॉलेज में बोलने का मोख मिला और एक ड्रामा भी किया (नारद और विष्णु का संवाद ) जो लोगो को और टीम को काफी पसंद आया और जिस से मेरे दिल का होसला बुलंद हुवा।
साइकिल चलते समय बहुत कड़ी धुप का सम्माना किया और तीन दिन बारिश में भी साइकिल चलने का अनुभव किया ये भी हमारे लिए और मेरे लिए एक विशेष अनुभव रहा घर में रहते तो बारिश के समय तो बहार ही नहीं निकलते और यात्रा में तो बहुत ख़ुशी से मौसम का आनंद उठाते साइकिल यात्रा किया और साथ साथ विशेष कार्यक्रम भी किये
ये सब बाबा की कृपा ही था जो मुझे शक्ति दिया और हम ऐसा कर पाए  अंत में मै येही कहना चाहुगा की अगर फिर से ऐसा मोख मिले तो जरुरु में साइकिल यात्रा करना चाहूँगा
और आप से भी कहूँगा की आप भी ऐसे स्वर्णिम औसर का अवश्य लाभ ले जो ख़ुशी मुझे मिली है वो आपको भी प्राप्त हो ये मेरी शुभ कामनाये।
कुछ विशेष अनुभव भी रहा साइकिल चलते चलते कभी कभी ऐसा भी लगा की साइकिल मै  नहीं साइकिल अपने आप चल रही हो में साइकिल पर हु और चला कोई और रहा है कुछ पल ऐसे अनुभव रहा जैसे परमात्म प्यार की रिम जिम मेरे ऊपर हो रहा है   ये अनुभव मेरे जीवन का एक यादगार पल जो में कभी भूल नहीं सकता।
उज्वल भारत के निर्माण के लिए मेरी ओर से एक बूंद का भी सहयोग हुवा हो तो ये मेरे लिए बहुत ख़ुशी की बात है और ऐसे शुभ कार्य के लिए सेवा के लिए में समय देता रहूँगा